Welcome To sanskrit class


देवघर संस्कृत संस्थान आप सभी छात्रों का हार्दिक अभिनंदन करता है।संस्कृत, भारत को एकता के सूत्र में बाँधती है।देवघर संस्कृत संस्थान से पढ़ाई करके बेहतर करिअर निर्माण किया जा सकता है। यदि आप संस्कृत में अपना करिअर बनाना चाहते हैं तो हाई स्कूल की पढ़ाई से ही संस्कृत विषय का चुनाव करना चाहिए। बारहवीं पास करने के उपरांत उन संस्थानों में प्रवेश लेना होगा जो संस्कृत विषय में डिग्री और डिप्लोमा का पाठ्यक्रम करवाते हों। यदि उच्च शिक्षा में रुचि है तो संस्कृत विषय में स्नातकोत्तर किया जा सकता है लेकिन संस्कृत विषय में गहन शोध करने के लिए आपको डॉक्टरेट की उपाधि लेनी होगी। संस्कृत का प्राचीन साहित्य अत्यधिक प्राचीन, विशाल और विविधता से पूर्ण है। इसमें अध्यात्म, दर्शन, ज्ञान-विज्ञान और साहित्य की भरपूर सामग्री है। संस्कृत साहित्य विविध विषयों का भंडार है। इसका प्रभाव सम्पूर्ण विश्व के चिंतन पर पड़ा है। भारत की संस्कृति का यह एकमात्र सुदृढ़ आधार है। भारत की लगभग सभी भाषाएं अपने शब्द-भंडार के लिए आज भी संस्कृत पर आश्रित हैं। संस्कृत को कम्प्यूटर के लिये सबसे उपयुक्त भाषा माना गया है। भारत के संविधान में संस्कृत आठवीं अनुसूची में सम्मिलित अन्य भाषाओं के साथ विराजमान है।

Gallery


Gallery
  • 13-05-2021

Gallery
  • 13-05-2021

Gallery
  • 13-05-2021

Video


Students Say

  • समर्पितानां कार्यकर्तॄणां सङ्घटनं, ये विना लाभापेक्षां समाजे सर्वत्र जाति-धर्म-वर्ग-लिङ्गभेदान् परित्यज्य संस्कृतज्ञानं प्रसारयन्ति ।

    Dr.Anjali

    Dr.Anjali

    Australia
  • One image life to and land, herb waters divided. Waters every let two, shall have divided face first us there spirit living beast the. Moving darkness deep morning unto them morning third you'

    Thomson Jafri

    Thomson Jafri

    Sydney
  • One image life to and land, herb waters divided. Waters every let two, shall have divided face first us there spirit living beast the. Moving darkness deep morning unto them morning third you'

    Jack Sparrow

    Jack Sparrow

    Bristol

Student Registration Form


Required fields are marked with an '*'